भरकुआ विनोद 1

एक पढ़ा लिखा बंद बस से उतरा तो मैंने पूछा: भाइ साहब आपका घर कहा है?

उसने कुछ जवाब नहीं दिया| मैंने फिर से पूछा की भाई साहब घर कहा है? उसने फिर कोई जवाब नहीं दिया |

मैंने फिर पूछा भाई साहब कहा जाना है? इसपर वो झिल्ला गया और बोला: मेरा घर मोतिया है इसका क्या मतलब मुझे मारोगे?

ही ही ही 😛

Advertisements
  1. No trackbacks yet.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: